Bihar Hari Khad Yojana: किसानों को मिलेगी 90% सब्सिडी, आज ही आवेदन करें

Spread the love

बिहार सरकार ने किसानों को बड़ी सौगात देते हुए एक योजना की शुरुआत की है, जिसका नाम ‘बिहार हरी खाद योजना’ है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती पर सब्सिडी प्रदान करना है ताकि उनको मूंग और ढैंचा की खेती के लिए उत्साहित किया जा सके।

अगर किसान सरकार की इस स्कीम का फायदा उठाते हैं, तो उन्हें काफी फायदा हो सकता है। इससे उनकी आय में भी सुधार होगा। जो भी किसान इस योजना का फायदा उठाना चाहता है, उसे ऑनलाइन आवेदन करना होगा। हमने नीचे ‘बिहार हरी खाद योजना’ के बारे में सभी जानकारी दी है, साथ ही आवेदन करने की प्रक्रिया भी बताई है।

Bihar Hari Khad Yojana Apply Online 2024

हाल ही में बिहार सरकार ने किसानों के लिए एक राहत भरी योजना की शुरुआत की है। जिसके माध्यम से किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती करने पर आर्थिक सहायता दी जाएगी। यह आर्थिक सहायता उन्हें सब्सिडी के रूप में सीधे बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर की जाएगी।

यह योजना पूर्व में चलाई गई थी, लेकिन सरकार ने किसी कारणवश इसे बंद कर दी थी। परंतु अब फिर से इस योजना की शुरुआत की गई है। जो मूंग व ढैंचा की खेती करने वाले किसानों के लिए राहत की खबर है। सरकार ने इस योजना के माध्यम से गर्मी के मौसम में ढैंचा की 28,000 हेक्टयर खेती करने का लक्ष्य रखा है।

योजना  का नाम बिहार हरी खाद योजना
योजना का उद्देश्यकिसानों को मूंग और ढैंचा की खेती के लिए प्रोत्साहित करना
जारी करने वाली संस्थाबिहार राज्य बीज निगम लिमिटेड
साल 2024
लाभकिसानों को मूंग के बीज पर 80% और ढैंचा की खेती पर 90% सब्सिडी मिलेगी
राज्य बिहार
आधिकारिक वेबसाइटhttps://brbn.bihar.gov.in/
आवेदन का तरीकाऑनलाइन

बिहार हरी खाद योजना क्या है?

बिहार हरी खाद योजना बिहार राज्य बीज निगम लिमिटेड द्वारा शुरू की गई एक अच्छी योजना है, जो किसानों को मूंग व ढैंचा की खेती करने पर सब्सिडी प्रदान करती है। इस योजना के तहत किसानों को मूंग के बीज पर 80% और ढैंचा की खेती पर 90% सब्सिडी मिलेगी।

जो किसान मूंग और ढैंचा की खेती करना चाहते हैं, उनको सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में अनुदान दिया जाएगा। इस योजना के जरिए सरकार ने गर्मी के मौसम में 28,000 हेक्टेयर क्षेत्र में ढैंचा की खेती करने का लक्ष्य रखा है। जो भी किसान इस योजना का लाभ उठाना चाहता है, उसे इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

आवेदन करने के बाद किसानों को निगम के डीलर नेटवर्क और ब्लॉक या जिला स्तर पर अन्य स्रोतों से बीज उपलब्ध करावाया जाएगा। वहीं सरकार ने इस योजना के तहत प्रति किसान को अधिकतम 20 किलो बीज देने की घोषणा की है। इसके अलावा जो किसान इस बीज की होम डिलिवरी करवाना चाहता है, तो सरकार ने कुछ शुल्क में किसानों को यह सुविधा भी प्रदान की है।

बिहार हरी खाद योजना के फायदे?

बिहार हरी खाद योजना के फायदे इस प्रकार है-

  •  इस योजना की मदद से किसानों की आय में सुधार होगा।
  • किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।
  • सरकार का मूंग और ढैंचा की खेती बड़े पैमाने पर करने का टारगेट पूरा होगा।
  • इस योजना के तहत किसानों को मूंग के बीज पर 80% और ढैंचा की खेती पर 90% सब्सिडी मिलेगी।
  • यह सब्सिडी किसानों को बड़े पैमाने पर खेती करने के लिए उत्साहित करेगा।
  • इससे राज्य की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

बिहार हरी खाद योजना के उद्देश्य

बिहार हरी खाद योजना के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं:

  •  इस योजना का उद्देश्य किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती के लिए उत्साहित करना।
  • सरकार इस योजना के माध्यम से किसानों की आय में सुधार करना चाहती है।
  • जैविक फसलें भूमि के लिए उर्वरक का काम करती हैं, इसलिए सरकार इस तरह की फसलों को बढ़ावा दे रही है।
  • किसान अपने खेतों में ढैंचा के पौधों की कटाई कर हरी खाद का प्रयोग कर सकते हैं।
  • इसके अलावा इस योजना का एक उद्देश्य किसानों की आय में सुधार करना भी है।

बिहार हरी खाद योजना के लिए पात्रता

  • किसान बिहार का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • किसान की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए।
  • जिस किसान के नाम भूमि है, वह इसके लिए आवेदन कर सकता है।

आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • किसान रजिस्ट्रेशन नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मूल निवास
  • आइडेंटिटी प्रूफ
  • मोबाइल नंबर, आदि।

बिहार हरी खाद योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

 आवेदन करने की प्रक्रिया इस प्रकार है-

  1. सबसे पहले आवेदक को सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2.  जहां आप सीधे होम पेज पर चले जाएंगे।
Bihar Hari Khad Yojana

  1. होम पेज पर आपको ऊपर की तरफ ‘बीज आवेदन’ के टैब पर क्लिक करना है।
  2. जहां आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
Bihar Hari Khad Yojana

  1. इस पेज पर आपको बीज आवेदन फॉर्म दिखेगा। जिसमें आपको पंजीकरण संख्या (रजिस्ट्रेशन नंबर), किसान का नाम, संशन का चयन और बाकी सभी डिटेल्स भरनी है।
  2. रजिस्ट्रेशन नंबर डालने के बाद सर्च विकल्प पर क्लिक करें। इसके बाद आपके सामने योजना की सभी जानकारी आ जाएगी।
  3. फिर आप सभी डिटेल्स को अच्छे से भरकर आवश्यक डॉक्युमेंट्स अपलोड करें।
  4. सभी डिटेल्स भरने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  5. इस तरह से आप इस योजना के लिए आसानी से ऑनलाइन अप्लाई कर पाएंगे।

निष्कर्ष

तो दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिक्ल ‘बिहार हरी खाद योजना’ जिसमें हमने इस योजना की बुनियादी बातों के बारे में अच्छे से जाना। साथ ही हमने बिहार हरी खाद योजना के लिए अप्लाई करने की प्रक्रिया के बारे में भी जाना। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए अवश्य आवेदन करना चाहिए।

होम पेजClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

FAQs

बिहार हरी खाद योजना क्या है?

बिहार हरी खाद योजना किसानों को मूंग व ढैंचा की खेती करने पर सब्सिडी प्रदान करती है। इस योजना के तहत किसानों को मूंग के बीज पर 80% और ढैंचा की खेती पर 90% सब्सिडी मिलेगी।

बिहार हरी खाद योजना के क्या फायदे है?

इस योजना की मदद से किसानों की आय में सुधार होगा। साथ ही किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

बिहार हरी खाद योजना के क्या उद्देश्य है?

इस योजना का उद्देश्य किसानों को मूंग और ढैंचा की खेती के लिए उत्साहित करना है।

बिहार हरी खाद योजना की ऑफ़िशियल वेबसाइट कौनसी है?

https://brbn.bihar.gov.in/


Spread the love

Leave a Comment